पाकिस्तान के अवामी लीग के नेता का भारत को धमकी देना, उनका कहना की अगर भारत ने जंग छेड़ी तो फिर ना तो भारत के मंदिरों में कभी घंटियाँ बजेंगी और ना ही वहाँ (भारत) के मैदानों में कभी घास उगेगी। उनकी नापाक फितरत की सोच है। भारत को यकीनन उनके इस वक्तव्य को गंभीरता से लेना चाहिए। इतिहास गवाह है मुस्लिम सेनाओं ने इसी तरह के अपवित्र उदॆशय को लेकर हम पर कई हमले किये और कुछ काल के लिए उन्होंने अपनी धूर्तता से हमे हरा भी दिया। पर मंदिरों में घंटियाँ सतत बजती रहीं और भारत के मैदान घास से ही नहीं वरन फसलों से भी लहलहाते रहें। पाकिस्तान अपने नापाक उद्देश्य में कभी कामयाब नहीं होगा, इसका हमें यकीन है पर फिर भी उसके नेता की इस धमकी को कोरी धमकी न मान कर भारत को दुष्ट पकिस्तान की नाक में नकेल तुरंत कसनी ही चाहिए, उसे छठी का दूध याद दिलाना ही चाहिए। असल में तो भारत को पाकिस्तान की इस धमकी पर इस्लामाबाद में अपनी सेना भेजकर उचित प्रतुत्तर देना चाहिए था । सरहद पर घात लगाकर पाकिस्तानी सैनिक, भारतीय सैनिको की कायरतापूर्वक हत्या कर रह हैं, उनके सर काट रहे हैं। इन हालातों में भारत को डंके की चोट पर पाकिस्तान में घुसकर उसकी नापाक करतूतों के लिए उसे फ़ौरन सबक सिखाना चाहिए। पाकिस्तान में रह रहे हिन्दुओ पर अत्याचार दिनोदिन बढते जा रहें हैं। उनकी लड़कियों को जबरन उठाकर मुस्लिम बनाया जा रहा है, उनका बलात्कार किया जा रहा है। उन्हें जबरन मुस्लिम मर्दों की रखेल/बीवी बनाया जा रहा है। कट्टरपंथियों की इन हरकतों पर वहां की सरकार और न्यायपालिका आँखे मूंद कर बैठी है। पिछले साल एक हिन्दू लड़की रिंकल कुमारी को जबरन उठाकर उसके साथ बलात्कार किया गया और उसे उसकी बिना मर्ज़ी के मुस्लिम बना कर एक मुस्लिम गुंडे की बीवी/रखेल बना दिया गया। रिंकल वहां की सुप्रीम कोर्ट में चीख – चीख कर कहती रही की वो अपने मां – बाप के पास जाना चाहती है, उसे जबरन मुस्लिम बनाया जा रहा है पर वहां के चीफ जस्टिस ने भी उसकी आवाज़ नहीं सुनी और उसे बलात्कारियों के हाथों में सौंप दिया। जहाँ वो नारकीय जीवन जीने को आज भी मजबूर है। रिंकल तो एक बानगी भर है ऐसी कितनी ही हिन्दू लड़कियां का वहां जबरन बलात्कार किया जा रहा है उसका कुछ हिसाब नहीं है। पाकिस्तान की इन हरकतों अब भारत को नज़रंदाज़ नहीं करना चाहिए। उस पर हमला करके उसकी धूर्तता की उचित – उचित सजा देनी चाहिए। रिंकल, सरहद पर मरते भारतीय सैनिकों की आत्मायो के साथ न्याय होगा जब अब पाकिस्तान में भारतीय सैनिकों के बूटों का संगीत गूंजेगा। – सुधीर मौर्य ‘सुधीर’ गंज जलालाबाद, उन्नाव – २ ० ९ ८ ६ ९

Advertisements